आखिर लक्ज़री ब्रांड अपना खुद का प्रोडक्ट क्यों जलाते हैं?

क्या आप जानते हैं कि दुनिया के बड़े बड़े ब्रांड जैसे LUIS VUITTON और BURBERRY इत्यादि, हर कुछ दिनों के बाद अपने खुद के प्रोडक्ट को जला देते हैं, या फिर उसे बरबाद कर देते हैं या फिर उसको इस्तेमाल करने लायक नही छोड़ते हैं।

यही वजह है कि बहुत से लोग इन बड़े ब्रांड वाले कंपनियों का मज़ाक भी उड़ाते है कि लेकिन इसके पीछे इन ब्रांड कंपनियों का बिजनेस मॉडल होता है। आइये जानते हैं कैसे।

साल 2018 में ब्रिटेन की लक्ज़री ब्रांड Burberry ने 3.6 बिलियन डॉलर का मुनाफा कमाये थे और वहीं लगभग 37 मिलियन डॉलर के अपने खुद ही के प्रोडक्ट को जलाये भी थे।

लक्ज़री ब्रांड अपना खुद का प्रोडक्ट क्यों जलाते हैं?

सारे ब्रांड अपने सालाना रिपोर्ट में इस बात को रखती है और वहीं ये भी बताते हैं कि ये एक बिज़नेस मॉडल होता है या फिर उनकी एक स्ट्रेटेजी होती है। इनका मानना होता है कि इन्हें अपने प्रोडक्ट को खास रखने के लिये ऐसा करते हैं जिसके लिए ये अपनी सप्लाई भी कम कर देते है, ताकि उनका प्रोडक्ट हर जगह न मिले और खास बना रहे।

लक्ज़री ब्रांड अपना खुद का प्रोडक्ट क्यों जलाते

हर सीजन ये ब्रांड अपने नए प्रोडक्ट लेकर आते हैं लेकिन अपने पुराने प्रोडक्ट के दाम कम नही करना चाहते है।इसलिए बचे हुए पुराने प्रोडक्ट को जला दिया जाता है। उनका मानना है कि अगर पुराने प्रोडक्ट को कम दाम पर बेचेंगे तो फिर उनके ब्रांड इमेज पर बुरा असर पड़ेगा, और लोग फिर उनके पुराने प्रोडक्ट के इंतज़ार में नए प्रोडक्ट नही खरीदेंगे। और लोगों के मन में ये लक्ज़री ब्रांड नही रह जायेगा।

अगर आप सोच रहे हो कि इनको काफी नुकसान होता होगा तो ऐसा बिल्कुल भी नही होता है। लक्ज़री ब्रांड्स अपने प्रोडक्ट को बहुत ही ज़्यादा क़ीमतों पर बेचते है इसलिए उनको अपनक ब्रांड इमेज को बनाये रखने के लिए इतना नुकसान का कोई असर नही होता है।

Read More :

Leave a Comment