Connect with us

Amazing Fact

जाने गणतंत्र दिवस से जुडी महत्वपूर्ण जानकारियां।75वें भारत गणतंत्र दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत के मुख्य अतिथि के रूप में किसे बुलाया है?1950 से लेकर तक गणतंत्र दिवस की सभी जानकारियाँ । भारत गणतंत्र दिवस 2024.

Published

on

भारत गणतंत्र दिवस: -प्राचीन काल से ही हमारे भारत देश की सभ्यता काफी अच्छी रही है। और यही वजह है कि लोग दुनिया के कोने-कोने से भारत को घूमने आते थे। और धीरे-धीरे भारत पर अपना अधिकार जमा लिया, इसके साथ ही यहां के सभ्य और संस्कार से भरे लोगों पर अत्याचार भी किया।

धीरे-धीरे भारत की वह रौनक खत्म हो गई और भारत को बार-बार लूटने के कारण भारत गरीब हो गया और लुटेरे काफी ज्यादा तरक्की कर गए।

भारत गणतंत्र दिवस

भारत की ही वजह से आज इंग्लैंड दुनिया की सबसे मजबूत देश में से एक है। इंग्लैंड को मजबूत बनाने में लाखों लोग अपने प्राण गवा दिए। क्योंकि इंग्लैंड के अफसर भारत में रहने वाले लोगों पर बहुत ज्यादा अत्याचार करते थे और यहां से ज्यादा से ज्यादा धन ले जाना चाहते थे।

WhatsApp Logo WhatsApp Logo

भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को ही क्यों लागू हुआ।

India Republic day :भारत पर शासन करने के लिए अंग्रेजी ने अपने अनुसार नियम कायदे बना दिए। भारत देश का अपना कोई नियम कानून नहीं था। 20वीं शताब्दी की शुरुआत से ही भारत के दिग्गज नेताओं ने भारत के अपनी संविधान की डिमांड करने लगे।

लेकिन अंग्रेज भारतीयों को उनका अपना कानून बनाने का अवसर दे नहीं रहे थे। साल 1930 में भारत के युवा नेता सुभाष चंद्र बोस और जवाहरलाल नेहरू ने मिलकर यह फैसला किया कि 26 जनवरी 1931 को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाएगा।

लेकिन अफसोस की बात है कि भारत 1931 में आजाद नहीं हो पाया। अंततः 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हो गया और अंग्रेजों को भारत को छोड़कर जाना पड़ा। लेकिन भारत उस समय तक अपना संविधान नहीं बन पाया था।

भारत का संविधान 26 नवंबर 1949 को बनकर तैयार हो गया लेकिन क्योंकि साल 1931 में 26 जनवरी को एक खास दिन घोषित किया गया था। इसलिए उसके मद्देनजर यह फैसला लिया गया कि हमारा संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू होगा। इस प्रकार भारत देश ने 26 जनवरी 1950 को पहली बार गणतंत्र दिवस मनाया था।

दुनिया का पहला गणराज्य कौन था?

आपको बता दी कि जब यूरोप में लोग जंगली जीवन व्यतीत करते थे जब अमेरिका बहुत गरीब हुआ करता था जब चीन में सभी लोग गुलामी किया करते थे उस समय भारत में एक ऐसा राज्य था जो दुनिया का पहला गणराज्य स्थापित किया।

वह राज्य का नाम वज्जी गणराज्य था जो कि मगध साम्राज्य का एक हिस्सा था। अगर आप बिहार से होंगे तो यह जानकर जरूर गौरव महसूस कर रहे होंगे क्यूंकि बिहार वज्जी गणराज्य बिहार में ही स्थित था।

75वें भारत गणतंत्र दिवस 2024 में के मुख्य अतिथि कौन है?

हर साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत मुख्य अतिथि का बुलावा भेजता है, बुलावा मिलने पर लोग खुशी-खुशी भारत आने के लिए तैयार होते हैं।

75 में गणतंत्र दिवस 2024 के अवसर पर भारत में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को भारत के मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया है।

भारत गणतंत्र दिवस

भारत गणतंत्र दिवस

साल 1950 में जब पहली बार गणतंत्र दिवस मनाया गया था तब से हर साल भारत में किसी न किसी मुख्य अतिथि को जरूर बुलाया गया है और यह परंपरा आज तक चलती आ रही है। परंपरा की शुरुआत भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने किया था।

साल 2023 में मिश्र के राष्ट्रपति अब्दुल अल फतह सीसी को भारत के मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया गया था।

पहले गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि कौन थे

26 जनवरी 1950 को देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद में 21 तोपों को सलामी के साथ भारत का झंडा लहराया और भारत को गणतंत्र घोषित किया। इस ऐतिहासिक अवसर पर भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया था।

गणतंत्र दिवस पर अब तक आए सभी मुख्य अतिथियों के नाम।

Historical Leaders

Leaders Through History

Year Main Guest and Country
2024 President Emmanuel Macron, France
2023 President Abdel Fattah al-Sisi, Egypt
2020 President Jair Bolsonaro, Brazil
2019 President Cyril Ramaphosa, South Africa
2018 Leaders of all ten ASEAN countries
2017 Crown Prince Mohammed bin Zayed Al Nahyan, Abu Dhabi
2016 President François Hollande, France
2016 President Maithripala Sirisena, Sri Lanka
2015 President Barack Obama, United States
2014 Prime Minister Shinzo Abe, Japan
2013 King Jigme Khesar Namgyel Wangchuck, Bhutan
2012 Prime Minister Yingluck Shinawatra, Thailand
2011 President Susilo Bambang Yudhoyono, Indonesia
2010 President Lee Myung-bak, Republic of Korea
2009 President Nursultan Nazarbayev, Kazakhstan
2008 President Nicolas Sarkozy, France
2007 President Vladimir Putin, Russia
2006 King Abdullah, Saudi Arabia
2005 King Jigme Singye Wangchuck, Bhutan
2004 President Luiz Inácio Lula da Silva, Brazil
2003 President Mohammad Khatami, Iran
2002 President Cassam Uteem, Mauritius
2001 President Abdelaziz Bouteflika, Algeria
2000 President Olusegun Obasanjo, Nigeria
1999 King Birendra Bir Bikram Shah Dev, Nepal
1998 President Jacques Chirac, France
1997 Prime Minister Basdeo Panday, Trinidad and Tobago
1996 President Luiz Inácio Lula da Silva, Brazil
1995 President Nelson Mandela, South Africa
1994 Prime Minister Goh Chok Tong, Singapore
1993 Prime Minister John Major, UK
1992 President Mário Soares, Portugal
1991 President Maumoon Abdul Gayoom, Maldives
1990 Prime Minister Anirudh Jagannath, Mauritius
1989 Nguyen Van Lan, Vietnam
1988 President Junius Richard Jayewardene, Sri Lanka
1987 President Alan García, Peru
1987 President Robert Mugabe, Zimbabwe
1986 Prime Minister Andreas Papandreou, Greece
1985 President Raúl Alfonsín, Argentina
1984 King Jigme Singye Wangchuck, Bhutan
1984 Chief of Staff of the Indonesian Army, Indonesia
1983 President Shehu Shagari, Nigeria
1982 King Juan Carlos I, Spain
1981 President José López Portillo, Mexico
1980 President Valéry Giscard d’Estaing, France
1979 Prime Minister Malcolm Fraser, Australia
1978 President Patrick Hillery, Ireland
1977 First Secretary Edward Gierek, Poland
1976 Prime Minister Jacques Chirac, France
1975 President Kenneth Kaunda, Zambia
1974 President Josip Broz Tito, Yugoslavia
1974 Prime Minister Sirimavo Bandaranaike, Sri Lanka
1973 President Colonel Joseph Mobutu, Zaire
1972 Prime Minister Seewoosagur Ramgoolam, Mauritius
1971 President Julius Nyerere, Tanzania
1969 Prime Minister Todor Zhivkov, Bulgaria
1968 Prime Minister Alexei Kosygin, Soviet Union
1968 President Josip Broz Tito, Yugoslavia
1965 Minister of Food and Agriculture Rana Abdul Hamid, Pakistan
1963 King Norodom Sihanouk, Cambodia
1961 Queen Elizabeth II, UK
1960 President Kliment Voroshilov, Soviet Union
1958 Marshal Ye Jianying, China
1955 Governor General Malik Ghulam Muhammad, Pakistan
1954 King Jigme Dorji Wangchuck, Bhutan
1950 President Sukarno, Indonesia

गणतंत्र दिवस पर आने वाले मुख्य अतिथि का चुनाव कैसे होता है।

गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत के मुख्य अतिथि कौन होंगे इसका निर्धारण विदेश मंत्रालय करता है। इसमें कई बिंदुओं पर ध्यान दिया जाता है, जैसे भारत का उसे देश के साथ पिछले कुछ सालों से संबंध कैसा रहा है या फिर अगर उसे देश के साथ भारत का संबंध और गहरा करना है। पूरे तरीके से सोने के बाद विदेश मंत्रालय किसी को मुख्य अतिथि के तौर पर बुलाने के लिए हरी झंडी देता है। यह प्रक्रिया लगभग 6 महीने तक चलती है।

मुख्य अतिथि का कैसे होता है स्वागत?

गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत आए मुख्य अतिथि का भाव है स्वागत होता है। उन्हें विशेष भोजन दिया जाता है इसके साथ ही राष्ट्रपति भवन में ठहरने के लिए खास व्यवस्था होती है। और फिर राष्ट्रपति भारत में आए हुए मुख्य अतिथि को गार्ड का ऑनर्स सम्मानित करता है।

Read More:

Minhaj is a skilled writer known for their insightful contributions to Fact Villa. With expertise in facts, they offer clear, well-researched content on various topics. Their ability to simplify complex ideas makes their articles both informative and engaging, enriching the readers' experience.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About Us

Fact villa (https://factvilla.in) is a Professional educational Platform. Here we will provide you only interesting content, which you will like very much. We’re dedicated to provide you the best of Mysterious fact and Amazing facts which will boost your knowledge. We’re working to turn our passion into a booming online website.